नगर निगम

जमा कूड़ा बन रहा स्थानीय दुकानदार और जनता के लिए परेशानी

IMG-20200605-WA0011

गाजियाबाद-थाना कविनगर क्षेत्र के राजनगर पेट्रिल पम्प के सामने निगम गाज़ियाबाद निगम स्वच्छता व स्मार्ट सिटी में शामिल होने की कोशिशों में काम करने का दावा करता है लेकिन निगम सफाई व्यवस्था को ही पटरी पर नहीं ला पा रहा। सड़कों के किनारे लग रहे कूड़े के ढेर लगने से गंदगी फैलने के साथ ही बीमारियों के फैलने का भी डर बना हुआ है।सड़कों के किनारे कई कई दिन कूड़ा नहीं हटने से स्थानीय दुकान दारों व जनता को काफी भी परेशानी आती है।
IMG_20200519_162327

पेट्रिल पम्प के सामने निगम की लापरवाही से फेल हुआ सफाई अभियान

स्थानीय दुकानदारों का कहना है कि हमने कई बार निगम में शिकायत की है लेकिन कोई भी अधिकारी सुनने को तैयार नही है।कई हफतों से सफाई व्यवस्था बदहाल हो गई है।बीते कई दिनों से जगह-जगह कूड़े के ढेर लगे हुए हैं। कूड़ा जमा होने से लोगों को बदबू से भी दो चार होना पड़ रहा है। ऐसे में स्मार्ट सिटी तो दूर की बात है, स्वच्छ शहर भी उन्हें नहीं मिल पा रहा है।स्थानीय दुकानदारों ने बताया कि जैसे दिल्ली का कलांट प्लेस एरिया कहा जाता है।उसी तरह गाजियाबाद के राज नगर इस मार्किट को इस जगह को कलांट प्लेस कहा जाता है।लेकिन यहां पर कूड़े के ढेर ने इसके नाम पर निगम दाग लगा रहा है। निगम के अधिकारियों की लापरवाही की वजह से यहां पर कस्टमर भी आने से बचते हैं। इसकी गंदगी की वजह से हमारे व्यापार में भी काफी नुकसान हो रहा है।निगम के अधिकारियों को बार-बार शिकायत करने के बाद भी यहां कूड़ा नहीं हटाया गया और यहां पर आने जाने वाले लोगों को भी परेशानी का सामना करना पड़ता है। हम दुकानदार अपनी दुकान के अंदर भी नहीं बैठ सकते इस कूड़े की बदबू हमारी दुकान के अंदर तक आती है और दुकान पर बैठना भी हमारा मुश्किल होता है।