उत्तर प्रदेश

साथी की सर्विस पिस्टल से चली गोली लगने से दारोगा की मौत, आरोपी गिरफ्तार

IMG_20200428_054800

बुलंदशहर। बीबीनगर थाने में तैनात दारोगा विजेंद्र सिंह की उनके ही एक साथी दारोगा नरेंद्र सिंह की पिस्टल से चली गोली लगने से मौत हो गई। वारदात के बाद आरोपी दारोगा नरेंद्र सिंह मौके से फरार हो गया, लेकिन पुलिस ने उसका मोबाइल ट्रैस करते हुए उसे गाजियाबाद में मसूरी थाना क्षेत्र से गिरफ्तार कर लिया है। यह वारदात शुक्रवार देर रात की है। इस संबंध में बीबीनगर थाने के मुंशी की तहरीर पर उसी थाने में मुकदमा दर्ज किया गया है।
IMG_20200218_062236

गाजियाबाद पुलिस ने बताया कि आरोपी दारोगा के फरार होने के बाद वायरलेस पर सूचना मिली थी कि उसकी लोकेशन मसूरी थाना क्षेत्र में है। इस सूचना पर मसूरी क्षेत्र में घूम रही पीआरवी को सक्रिय कर दिया गया और थोड़ी ही देर बाद आरोपी दारोगा को काबू कर लिया गया। इतने में बुलंदशहर पु़लिस भी मौके पर पहुंच गई और आरोपी को कब्जे में लेकर बुलंदशहर के लिए रवाना हो गई।बुलंदशहर के पुलिस अधीक्षक नगर अतुल श्रीवास्तव ने बताया कि दारोगा विजेंद्र सिंह शुक्रवार की देर रात ड्यूटी पूरी कर अपने क्वार्टर में सोने के लिए गए थे, जहां उनके साथी दारोगा नरेंद्र सिंह की सर्विस रिवॉल्वर से संदिग्ध परिस्थितियों में गोली चल गई। यह गोली सीधी विजेंद्र के पेट में लगी, जिससे वह लहुलुहान हो गए। आरोपी दारोगा नरेंद्र ने ही उन्हें आनन-फानन में अस्पताल पहुंचाया। जहां डॉक्टरों ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।इसके बाद आरोपी दारोगा नरेंद्र मौके से फरार हो गए। पुलिस ने तत्काल आरोपी की धरपकड़ के लिए इलेक्ट्रॉनिक सर्विलांस की मदद लेते हुए शनिवार सुबह गाजियाबाद में मसूरी थाना क्षेत्र से गिरफ्तार किया है। उन्होंने बताया कि मृतक दारोगा विजेंद्र सिंह गाजियाबाद जिले के मुरादनगर थानाक्षेत्र के गांव जलालाबाद के रहने वाले थे। वह बीबीपुर थाने में 22 जुलाई 2018 से तैनात थे।