जी डी ए

कंचन वर्मा सम्भालेंगी आज जीडीए का कार्यभर!, चुनौती भरा होगा वीसी दायित्व

n1

गाजियाबाद। एक साल के लिए किंग्स कॉलेज ऑफ लंदन में ट्रेनिंग लेने के बाद लौटी आईएएस कंचन वर्मा को शासन द्वारा गाजियाबाद विकास प्राधिकरण (जीडीए)का दोबारा उपाध्यक्ष बनाया जाना पूरे जिले चर्चा में बना हुआ है।
नवागत जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा मंगलवार को प्राधिकरण में फिर से पारी शुरू करने के लिए ज्वाइंनिंग करनी थी लेकिन फिलाईट लेट होने की वजह से ज्वाइनिंग नहीं कर पायी आज ज्वाइंनिंग करने के कयास लगाए जा रहे है।
सबसे खास बात यह है कि नवागत जीडीए उपाध्यक्ष के सामने दिलशाद गार्डन से नया बस अड्डा तक मेट्रो ट्रेन की भारत सरकार से 402.40 करोड़ रुपए फंडिंग को मंजूरी दिलाने के अलावा घंटाघर से भाटिया मोड तक एलिवेटेड रोड-2 का निर्माण,मधुबन-बापूधाम आवासीय योजना में रेलवे ट्रैक के ऊपर रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण कराने समेत करोड़ों रुपए की कई बड़ी परियोजनाओं को साकार करने की बड़ी चुनौती माना जा रहा है।

नवागत उपाध्यक्ष के सामने अब शहर में करोड़ों रुपए की योजनाएं साकार कराना बड़ी चुनौती के समान होगा। जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा की प्राधिकरण में आमद होने को लेकर जीडीए के अधिकारियों से लेकर कर्मचारियों में जहां अंदरखाने खुशी की लहर दिख रही है और वहीं बिल्डरों को भी अब अवैध बिल्डिंग को ध्वस्त न होने की कुछ आशा जगी दिख रही है। फिलहाल उपाध्यक्ष का दोबारा से पारी शुरू करने के लिए बेसब्री से इंतजार किया जा रहा हैं।
हालांकि जिलाधिकारी एवं तत्कालीन जीडीए उपाध्यक्ष रितु माहेश्वरी का करीब 11 माह का कार्यकाल काफी सराहनीय रहा है। इन्होंने मेट्रो ट्रेन का ट्रायल, एलिवेटेड रोड का संचालन शुरू कराने, राजनगर एक्सटेंशन चौराहे का जाम खत्म कराने के लिए यू-टर्न का निर्माण कराने समेत करोड़ों रुपए की योजनाओं को शहर में साकार कराकर शहर वासियों को योजनाओं की सौगात दी गयी हैं।

vigyapn

-जीडीए की नवागत उपाध्यक्ष कंचन वर्मा के सामने शहर में प्रमुख योजनाओं को विकसित कराना यह चुनौती भरा होगा।
-दिलशाद गार्डन से नया बस अड्डा तक मेट्रो ट्रेन की संशोधित डीपीआर 2210 करोड़ रुपए की मंजूरी और केंद्र सरकार से 402.40 करोड़ फंडिंग की मंजूरी।
-वैशाली टू मोहन नगर मेट्रो ट्रेन संशोधित डीपी
आर,नोएडा तक मेट्रो ट्रेन की डीपीआर पर शासन की एप्रुवल।
-घंटाघर से भाटिया मोड तक 3.20 किलोमीटर लंबी एलिवेटेड रोड।
-मधुबन-बापूधाम आवासीय योजना में बुनकर मार्ट का निर्माण पूरा कराना,
-प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत 36000 ईडब्ल्यूएस भवनों का निर्माण कराना,
-आरडीसी और इंदिरापुरम में मल्टीलेवल पार्किंग का निर्माण
-मधुबन-बापूधाम आवासीय योजना में रेलवे ओवरब्रिज का निर्माण,
-यू-टर्न का निर्माण के अलावा जीडीए का कंपाउंडिंग शुल्क 400 करोड़ रुपए की वसूली कराना।
-अवैध बिल्डिंग को ध्वस्त कराना समेत करोड़ों रुपए की योजनाओं का साकार कराना और प्राधिकरण को भ्रष्टाचार मुक्त बनाना बड़ी चुनौती के समान माना जा रहा हैं।

बता दें कि कंचन वर्मा ने 17 सितंबर-2017 को पद छोड़ा था। लंदन में ट्रेनिंग लेने के बाद ट्रेनिंग पूरी होने पर शासन में दो दिन पहले ज्वाइन किया था। शनिवार को शासन ने इन्हें जीडीए उपाध्यक्ष बना दिया। शासन ने इनके लंदन स्टडी लीव पर जाने के बाद 27 अक्टूबर को जिलाधिकारी रितु माहेश्वरी को जीडीए उपाध्यक्ष का अतिरिक्त चार्ज दिया था।

जीडीए उपाध्यक्ष कंचन वर्मा ने कहा सभी योजनाएं समय पर विकसित होंगी और अवैध निर्माण पर जारी रहेगी कार्रवाई। जीडीए के प्रस्तावित करोड़ों रुपए की योजनाएं समय पर पूरी कराई जाएगी। पहले ज्वाइन कर लूं,इसके बाद योजनाओं से लेकर शहर में अन्य योजनाओं को विकसित कराने पर पूरा फोकस रहेगा। अवैध निर्माणधीन बिल्डिंग ध्वस्तीकरण की कार्रवाई रोकी नहीं जाएगी। मेट्रो ट्रेन की 402.40 करोड़ रुपए फंडिंग को जूरी,एलिवेटेड रोड समेत अन्य योजनाओं हर हाल में विकसित कराने के लिए तेजी से प्रयास किए जाएंगे।