शिक्षा

अध्यापकों द्वारा शिक्षण संस्थानों में विधायर्थियों को कोरोना से सम्बंधित जागरूक करना चाहिए: श्री कांत पाल

IMG_20210322_111506

गाजियाबाद। श्री कांत पाल, डायरेक्टर कोटा अकैडमी ने कोरोना संक्रामक के चलते लॉक डाउन के एक साल पूरे होने पर हमारे संवाददाताओं को बताया कि 22 मार्च 2021 का वह दिन भुलाया नहीं जा सकता जो कि पूरे भारत में प्रथम लोक डाउन था। लोगों को आशा थी कि इस एक दिन के बाद फिर से दिनचर्या पहले की तरह हो जाएगी लेकिन उस दिन के बाद से बहुत लंबे समय तक लोग डाउन की व्यवस्था बनी रहे हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी के निर्देशन व संरक्षण में हमने कोरोनावायरस लड़ाई लड़ी और आज एक साल बाद हम वैक्सीन के साथ कोरोना वायरस के साथ लड़ रहे हैं।
PicsArt_05-17-11.45.01
वैक्सीन हमारी बॉडी में जाकर हमें एंटीबॉडी क्रिएट करके हमें कोरोना से लड़ना सिखाती है। आज हम सभी कोरोना से वैक्सीन रूपी हथियार के साथ लड़ रहे हैं इस मे हमारी जीत सुनिश्चित है। हम जीतेंगे लोगों से निवेदन है कि कोरोना के चलते सोशल डिस्टेंसिंग बनाकर रखा जाए। आप लोग पहले से ही कोरोना वायरस से परिचित हैं कोरोना महामारी है और कोरोनावायरस सोशल डिस्टेंसिंग से ही हराया जा सकता है।
IMG_20210322_111533

सभी खुले विद्यालयों के प्रधानाचार्य से निवेदन है कि बच्चों को स्कूल में कोरोना से सावधानियों के बारे में विस्तृत रूप से बताये। ताकि इस महामारी को हम जड़ से खत्म कर सकें यही हमारा निवेदन है सभी विद्यार्थियों से अध्यापकों से और अपने साथ रहने वाले चलने वाले काम करने वाले उन सभी लोगों से जो हमारे संपर्क में रहते हैं और उनका पालन करें और देश को भारतवर्ष को आगे ले जाने में सब एक दूसरे के साथ कदम से कदम मिलाकर हाथ से हाथ मिला कर चले।